Nakoda Ji Jain Mandir: नाकोड़ा जी जैन मंदिर इतिहास, कहा स्थित है, किसने बनवाया पूरी जानकारी

Nakoda Ji Jain Mandir: नाकोड़ा जी जैन मंदिर भारत के राजस्थान के बाड़मेर जिले में स्थित एक प्रसिद्ध तीर्थस्थल है। यह जैन समुदाय के लिए एक पवित्र पूजा स्थल है और ऐसा माना जाता है कि यह भगवान श्री पार्श्वनाथ जी का निवास स्थान भी है।

Nakoda Ji Jain Mandir भारत के राजस्थान के बाड़मेर जिले में स्थित एक प्रसिद्ध तीर्थस्थल है। यह जैन समुदाय के लिए एक पवित्र पूजा स्थल है और ऐसा माना जाता है कि यह भगवान श्री पार्श्वनाथ जी का निवास स्थान भी है। मंदिर में आप सभी को प्राचीन वास्तुकला और आधुनिक सुविधाओं का एक आदर्श मिश्रण देखने को मिलता है, जो दुनिया भर के आने वाले भक्तों और पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है। आइए नाकोड़ा जी जैन मंदिर की दिव्य सुंदरता को और विस्तार से देखें और समझने की कोशिश करते हैं।

Nakoda Ji Jain Mandir का इतिहास

Nakoda Ji Jain Mandir का इतिहास जैन समुदाय ने प्राचीन काल में है। किंवदंतियों के हिसाब से , भगवान श्री पार्श्वनाथ जी ने नाकोड़ा के स्थल का निरीक्षण किया और उसे अपनी दिव्य उपस्थिति का आशीर्वाद दिया। ऐसा कहा जाता है भगवान श्री पार्श्वनाथ जी ने यहाँ काफी समय बिताया है। तब से, इस जगह को जैन लोगों के लिए एक पवित्र तीर्थस्थल माना जाता है। मंदिर का निर्माण लगभग 10वीं शताब्दी में किया गया था इस बात से आप अंदाजा लगा सकते हैं यह मंदिर श्रद्धा भाव से जुड़ा हुआ है, और पिछले कुछ वर्षों में इसका कई बार जीर्णोद्धार हुआ है। जैन समाज अपने इस मंदिर की समय समय पर जीर्णोद्धार करते रहते हैं।

नाकोड़ा जी जैन मंदिर की वास्तुकला

नाकोड़ा जी जैन मंदिर में आप को प्राचीन वास्तुकला का एक शानदार उदाहरण देखने को मिलेगा। Nakoda Ji Jain Mandir सफेद संगमरमर के पत्थर से बना है और इसमें जैन पौराणिक कथाओं के विभिन्न चित्रकारियों को दर्शाती नक्काशी और सुंदर मूर्तियां हैं जिनको देख आप मंत्रमुग्द हो जायेगें। मंदिर के मुख्य देवता भगवान श्री पार्श्वनाथ जी हैं, जिन्हें ध्यान मुद्रा में चित्रित किया गया है। मंदिर के प्रांगढ़ में विभिन्न जैन तीर्थंकरों को समर्पित कई अन्य मंदिर भी हैं और सभी में आप को अलग अलग तरह की प्राचीन वास्तुकला देखने को मिलेगी। ऐसी वास्तुकला आप ने शायद ही पहले कभी किसी जैन मंदिर में देखी हो।

Nakoda Ji Jain Mandir का महत्व

नाकोड़ा जी जैन मंदिर जैन समाज के लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण पूजा स्थल है। पुराने समय से ऐसा माना जाता है कि मंदिर की यात्रा आध्यात्मिक ज्ञान को प्राप्त करने और जन्म, मृत्यु के चक्र से मुक्ति पाने के लिए ज्ञान देती है। मंदिर में नाकोड़ा पार्श्वनाथ मेला सहित पूरे वर्ष कई सारे उत्सवों का आयोजन किया जाता है, जो बड़ी संख्या में भक्तों और पर्यटकों को आकर्षित करता है। यहाँ पर बहुत दूर दूर से जैन समाज को लोग दर्शन के लिए आते है। कुछ अपनी मन इच्छा की पूर्ति के लिए भी यहाँ आते है।

नाकोड़ा जी जैन मंदिर कैसे पहुंचे

नाकोड़ा जी जैन मंदिर भारत के राजस्थान के बाड़मेर जिले में स्थित है। निकटतम हवाई अड्डा जोधपुर हवाई अड्डा है, जो मंदिर से लगभग 140 किमी दूरी पर स्थित है। निकटतम रेलवे स्टेशन बालोतरा जंक्शन है, जो लगभग 13 किमी दूरी पर स्थित है। बालोतरा से, आप को टैक्सी, बस या लोकल ट्रांसपोर्ट मिल जाते है जो आप को मंदिर तक ले कर आते है। आप बहुत ही आसानी से मंदिर तक कुछ ही समय में पहुंच जाते हैं।

अंत में, Nakoda Ji Jain Mandir जैन धर्म के लोगों के लिए एक सुंदर और महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल है। इसकी प्राचीन वास्तुकला, शांत वातावरण और आध्यात्मिक महत्व इसे आध्यात्मिक ज्ञान प्राप्त करने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए एक ज़रूरी मार्ग बनाते हैं। यदि आप राजस्थान की यात्रा की योजना बना रहे हैं, तो अपने यात्रा कार्यक्रम में Nakoda Ji Jain Mandir को शामिल करना न भूलें । एक बार जरूर नाकोड़ा जी जैन मंदिर जाएँ और आध्यात्मिक महत्व को समझने को कोशिश करें।

Nakoda Ji Jain Mandir Video

नाकोड़ा जी जैन मंदिर के बारे में 10 महत्वपूर्ण तथ्य

  1. नाकोड़ा जी जैन मंदिर भारत के राजस्थान के बाड़मेर जिले में स्थित एक लोकप्रिय जैन धर्म के लोगों का तीर्थस्थल है।
  2. यह मंदिर जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर भगवान श्री पार्श्वनाथ जी को समर्पित है।
  3. यह मंदिर 1000 साल से अधिक पुराना है और पिछले कुछ वर्षों में इसका कई बार जीर्णोद्धार हुआ है।
  4. यह मंदिर 1000 साल से अधिक पुराना है और पिछले कुछ वर्षों में इसका कई बार जीर्णोद्धार हुआ है।
  5. मंदिर परिसर में अन्य जैन तीर्थंकरों को समर्पित कई छोटे मंदिर भी मौजूद हैं।
  6. यह मंदिर बड़ी संख्या में भक्तों और पर्यटकों को आकर्षित करता है, विशेष रूप से नाकोड़ा पार्श्वनाथ मेले के दौरान, जो प्रतिवर्ष जनवरी या फरवरी में आयोजित किया जाता है।
  7. नाकोड़ा पार्श्वनाथ मेला एक बहुत ही लोकप्रिय मेला है जिसमें कई सांस्कृतिक कार्यक्रम होते हैं और हस्तशिल्प, भोजन और कपड़ों जैसी विभिन्न वस्तुओं की बिक्री होती है।
  8. Nakoda Ji Jain Mandir में एक धर्मशाला या गेस्टहाउस है जो तीर्थयात्रियों और पर्यटकों को आवास प्रदान करता है।
  9. मंदिर सुंदर पहाड़ियों से घिरा हुआ है और आसपास के परिदृश्य के सुंदर दृश्य प्रस्तुत करता है।
  10. मंदिर का निकटतम रेलवे स्टेशन बालोतरा जंक्शन है, जो लगभग 13 किमी दूरी पर स्थित है, जबकि निकटतम हवाई अड्डा जोधपुर हवाई अड्डा है, जो लगभग 140 किमी दूर है।

नाकोड़ा जी जैन मंदिर के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले 10 प्रश्न

नाकोड़ा जी जैन मंदिर का क्या महत्व है?

नाकोड़ा जी जैन मंदिर एक लोकप्रिय जैन तीर्थस्थल है और जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर भगवान पार्श्वनाथ को समर्पित है।

Nakoda Ji Jain Mandir जाने का सबसे अच्छा समय कब है?

नाकोड़ा जी जैन मंदिर जाने का सबसे अच्छा समय नाकोड़ा पार्श्वनाथ मेले के दौरान है, जो सालाना जनवरी या फरवरी में आयोजित किया जाता है।

नाकोड़ा जी जैन मंदिर में दर्शन का समय क्या है?

नाकोड़ा जी जैन मंदिर दर्शनार्थियों के लिए प्रतिदिन प्रातः 6:00 बजे से रात्रि 9:00 बजे तक खुला रहता है।

क्या नाकोड़ा जी जैन मंदिर जाने के लिए कोई प्रवेश शुल्क है?

नहीं, नाकोड़ा जी जैन मंदिर जाने के लिए कोई प्रवेश शुल्क नहीं है। हालांकि, दान स्वीकार किए जाते हैं।

क्या नाकोड़ा जी जैन मंदिर में जाने के लिए कोई ड्रेस कोड है?

हां, आगंतुकों से उम्मीद की जाती है कि वे मंदिर परिसर में प्रवेश करने से पहले शालीनता से कपड़े पहनें और अपना सिर ढक लें।

क्या Nakoda Ji Jain Mandir के पास कोई आवास विकल्प उपलब्ध है?

हां, नाकोड़ा जी जैन मंदिर में एक धर्मशाला या गेस्ट हाउस उपलब्ध है जो तीर्थयात्रियों और पर्यटकों को आवास प्रदान करता है।

क्या गैर जैन नाकोड़ा जी जैन मंदिर जा सकते हैं?

क्या गैर जैन नाकोड़ा जी जैन मंदिर जा सकते हैं?

नाकोड़ा जी जैन मंदिर के आसपास के पर्यटक आकर्षण क्या हैं?

नाकोड़ा जी जैन मंदिर के आसपास के कुछ पर्यटक आकर्षणों में जसोल हेरिटेज, किराडू प्राचीन मंदिर और बालोतरा शामिल हैं।

क्या Nakoda Ji Jain Mandir के अंदर फोटोग्राफी की अनुमति है?

हां, नाकोड़ा जी जैन मंदिर के अंदर फोटोग्राफी की अनुमति है, लेकिन आगंतुकों से उम्मीद की जाती है कि वे तस्वीरें लेने से पहले अनुमति लें।

क्या नाकोड़ा जी जैन मंदिर के पास पार्किंग की सुविधा उपलब्ध है?

हां, नाकोड़ा जी जैन मंदिर के पास पार्किंग की सुविधा उपलब्ध है, और आगंतुक वहां अपने वाहन मुफ्त में पार्क कर सकते हैं।

यदि आप दिल्ली से Nakoda Ji Jain Mandir जाने की योजना बना रहे हैं, तो यहां पहुंचने के कुछ तरीके यहां दिए गए हैं:

हवाई यात्रा: नाकोड़ा जी जैन मंदिर का निकटतम हवाई अड्डा जोधपुर हवाई अड्डा है, जो मंदिर से लगभग 175 किमी दूर है। आप दिल्ली से जोधपुर के लिए एक उड़ान ले सकते हैं और फिर टैक्सी किराए पर ले सकते हैं या नाकोड़ा जी जैन मंदिर तक पहुँचने के लिए बस ले सकते हैं।

ट्रेन से: नाकोड़ा जी जैन मंदिर का निकटतम रेलवे स्टेशन बालोतरा जंक्शन है, जो मंदिर से लगभग 13 किमी दूर है। आप दिल्ली से बालोतरा जंक्शन के लिए ट्रेन ले सकते हैं और फिर नाकोड़ा जी जैन मंदिर तक पहुँचने के लिए टैक्सी किराए पर ले सकते हैं या बस ले सकते हैं।

सड़क मार्ग से: नाकोड़ा जी जैन मंदिर सड़क मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है और दिल्ली से कार या बस द्वारा पहुंचा जा सकता है। दिल्ली और नाकोड़ा जी जैन मंदिर के बीच की दूरी लगभग 950 किमी है, और सड़क मार्ग से वहां पहुंचने में लगभग 16-17 घंटे लगते हैं। मंदिर तक पहुँचने के लिए आप या तो अपनी कार चला सकते हैं या दिल्ली से टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

हम आशा करते है आप को हमारी ये जानकारी अच्छी लगी होगी और आप से आशा करते हैं आप हमारी इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर साँझा करेंगे। आप का सभी पोस्ट को जरूर शेयर करें।