Jiddi bacche ko kaise sudhare: बस कर लें ये कुछ उपाय महा जिद्दी बच्चा भी बन जाएगा सीधा बच्चा

    0
    6
    jiddi bacche ko kaise sudhare

    जैसे-जैसे समय बदल रहा है वैसे-वैसे लोगों का बिहेवियर भी बदलता जा रहा है। ऐसे में हमारे बिहेवियर का सबसे बड़ा असर आजकल के बच्चों में देखने को मिल रहा है। आजकल बच्चे जरूर से ज्यादा स्मार्ट और समय से पहले मेंटली डेवलप हो जा रहे हैं। ऐसे में बच्चों का जिद्दी और चिड़चिड़ा होना बहुत ही आम सी बात है। हमने अपने आसपास या अपने घर में ही ऐसे बच्चे देखे होंगे जो बहुत ही ज्यादा चिड़चिड़े हैं जिन्हें अटेंशन सीकिंग की आदत है। ऐसे बच्चों के साथ डील करना बहुत ही मुश्किल काम होता है।

    Jiddi bacche ko kaise sudhare easy tips:-

    हालांकि ऐसे बच्चों को बड़े प्यार से और समझदारी से हैंडल किया जा सकता है। परंतु जिद्दी बच्चों के पेरेंट्स के लिए यह एक चुनौती होती है जहां बच्चों को नहलाने से लेकर उन्हें खिलाना उन्हें सुलाना हर बात पर उन्हें बच्चों की जिद झेलनी पड़ती है । इसके साथ ही पढ़ाई के दौरान और स्कूल में भी बच्चे अपनी इस ज़िद की वजह से काफी परेशानियां झेलते हैं। माता पिता यह सोच सोच कर परेशान होते है की Jiddi bacche ko kaise sudhare? और वहीं बच्चों को यह समझ नहीं आता कि उनकी ज़िद की वजह से वह अपना कितना नुकसान कर रहे हैं? परंतु उनकी यह गलती दिन ब दिन उन पर भारी पड़ती चली जाती है और बच्चे और ज्यादा जिद्दी हो जाते हैं। यह सब एक विशेष साइकिल की तरह चलता है जो दिन दुगनी रात चौगुनी तरक्की करता है और बच्चों का बिहेवियर बिगड़ जाता है। ऐसे में आज के इस लेख में हम लेकर आए हैं कुछ ऐसे आसन से टिप्स जिससे आप जिद्दी बच्चों को सुधार सकते हैं।

    Jiddi bacche ko kaise sudhare (जिद्दी बच्चों को कैसे सुधारें) : अपनाएं कुछ आसान टिप्स

    • जिद्दी बच्चों को सुधारने के लिए सबसे पहले तो माता-पिता को बहुत ही शांति से उनकी बात सुननी चाहिए।
    • जिद्दी बच्चों के साथ जबरदस्ती बिल्कुल भी नहीं करनी चाहिए।
    • ज़िद्दी बच्चों के माता-पिता को बच्चों के साथ नेगोशिएट करना सीखना पड़ता है, बच्चों से जबरदस्ती कुछ करवाने की जगह बच्चों को  कुछ काम करने के लिए प्रेरित करना पड़ता है।
    • जिद्दी बच्चों के माता-पीता को हमेशा विकल्प देकर बच्चों से काम करवाना पड़ता है, मतलब जिद्दी बच्चे से अगर आप एक काम करवाना चाहते हैं तो आपको बच्चों को चार-पांच अलग-अलग काम के विकल्प देने होंगे जिनमें से एक काम बच्चा जरूर करेगा।
    • जिद्दी बच्चों के साथ कभी भी चीखें चिल्लायें नहीं ऐसे जिद्दी बच्चे कभी भी नियंत्रण में नहीं आते इसीलिए कोशिश करें कि बच्चों के साथ शांत और समझदारी से व्यवहार करें।
    • जिद्दी बच्चों के साथ माता-पिता को भरपूर टाइम देने की आदत डालनी चाहिए ,जिससे वे बच्चों का विश्वास जीतने में कामयाब होते हैं।
    • यदि आपका बच्चा जिद्दी है तो आपको यह कोशिश करनी चाहिए कि आप उन पर कोई भी काम थोपें नहीं बल्कि स्वइच्छा इच्छा से काम करने के लिए प्रेरित करें।

    [amazon bestseller=”good habits books for kids” items=”5″ template=”table”]

    हालांकि जिद्दी बच्चों को डिसिप्लिन में रहने में दिक्कत होती है परंतु आप उनके लिए कुछ सुलभ नियम बना सकते हैं जिनसे जिद्दी बच्चे आपके नियंत्रण में आ सकते हैं। जिद्दी बच्चों की साइकोलॉजी को समझने के बाद आपको अपने बिहेवियर को उनके हिसाब से बदलना पड़ता है, ताकि बाद में धीरे-धीरे वह आपके हिसाब से चल सके । परंतु जिद्दी बच्चों में सुधार लाने के लिए आप कुछ आसान से टोटके भी कर सकते हैं जिससे जिद्दी बच्चों का जिद्दीपन शांत हो जाता है और वह धीरे-धीरे आपके नियंत्रण में आने लगते हैं।

    इसे भी पढ़ें: सबसे अच्छी छोटे बच्चों की कार

    जिद्दी बच्चों को कैसे सुधारे ? करें यह आसान टोटके (Totke) –

    1. जिद्दी बच्चों को सुधारने के लिए आप रोजाना चीटियों को आटा खिला सकती हैं। माना जाता है कि चीटियों को आटा खिलाने से आपके बच्चों में पॉजिटिव चेंज देखने को मिलते हैं।
    2. किसी बच्चे को सुधारने के लिए आप आधा किलो आटे में आधा किलो शक्कर मिलाकर बच्चों के सर से पैर तक सात बार क्लाक वाइज घूमा कर इस आटे को पीपल या गुलर की जड़ में डाल दे। लगभग 11 शुक्रवार यह उपाय करने से आपका जिद्दी और गुस्सैल बच्चा शांत और सरल स्वभाव का हो जाता है।
    3. इसके अलावा आप बच्चों के हाथ से सप्ताह में एक बार तीन मुट्ठी चावल का दान भी करवा सकते हैं। इस दान को करने से बच्चे का चंद्रमा शांत होता है और बच्चे का चंचल मन स्थिर हो जाता है।
    4. आप जिद्दी बच्चों को रोजाना रात को चांदी के गिलास में दूध या पानी पिलाने की भी आदत डालें। इससे बच्चे पर चंद्रमा की कृपा बनी रहती है और बच्चे का दिमाग ठंडा रहता है।
    5. अगर आपका बच्चा बहुत ही ज्यादा जिद्दी और हठि स्वभाव का है तो आप बच्चे की छोटी उंगली में चांदी की अंगूठी भी पहना सकते हैं। ऐसे बच्चे जल्द ही शांत हो जाते हैं और बात मानने लगते हैं।
    6. इसके अलावा बच्चों का गुस्सा और ज़िद शांत करने के लिए आप बच्चों के हाथ से पक्षियों को दान भी डलवा सकते हैं। यह उपाय कर लेने से ज़िद्दी से जिद्दी बच्चा भी शांत हो जाता है।
    7. इसके अलावा आप यह साधारण सा उपाय भी कर सकते हैं, इस उपाय में आपको एक छोटा सा चांदी का टुकड़ा लेना होगा। टुकड़े को अपने हाथ में रखकर 11 बार गायत्री मंत्र का जाप करना होगा और शनिवार या मंगलवार के दिन उस चांदी के टुकड़े को अपने बच्चों के हाथ से बहते जल में प्रवाहित कर देना होगा। यह उपाय करने पर आपका जिद्दी बच्चा जल्द ही सुधर जाता है।

    इसे भी पढ़ें: सबसे अच्छे छोटे बच्चों के खिलौने

    निष्कर्ष

    इस तरह कुछ आसान से उपाय कर और अपने स्वभाव में हल्का बदलाव लाने पर आप जिद्दी से जिद्दी बच्चों को शांत और सरल स्वभाव का बना सकते हैं। आशा है हमारा यह लेख आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगा और आपका जिद्दी बच्चा जल्द ही आपकी बात माने लगेगा।

    इन्हें भी पढ़ें: